Bihar Board 10th Result 2020: स्टेट टॉपर हिमांशु बनना चाहते हैं सॉफ्टवेयर इंजीनियर, पिता बेचते हैं सब्जी

Bihar Board 10th Result 2020: स्टेट टॉपर हिमांशु बनना चाहते हैं सॉफ्टवेयर इंजीनियर, पिता बेचते हैं सब्जी

May 26, 2020

बिहार बोर्ड ने 10वीं क्लास का रिजल्ट जारी कर दिया है. इस साल बिहार बोर्ड की 10वीं की परीक्षाओं में हिमांशु राज ने टॉप किया है. समस्तीपुर के दुर्गेश कुमार 480 अंकों के साथ राज्य में दूसरे स्थान पर और तीसरे स्थान पर आरा के छात्रा शुभम कुमार हैं.

हिमांशु राज ने परीक्षा में 500 में से कुल 481 नंबर प्राप्त किए हैं. उन्होंने 96.20 फीसदी अंकों के साथ मैट्रिक की परीक्षा टॉप की है.

हिमांशु के पिता बेचते हैं सब्जी- बिहार टॉपर हिमांशु राज रोहतास जिले के दिनारा प्रखंड के तेनुअज पंचायत के नटवार कला गांव वार्ड नं 10 के रहने वाले हैं. हिमांशु राज के पिता सुभाष सिह सब्जी बेचकर अपने परिवार का खर्चा चलाते हैं. मां मंजू देवी गृहिणी है.

सपने के सच होने जैसा- बेहद साधारण परिवार का बेटा हिमांशु बेहद लगनशील और परिश्रमी विद्यार्थी हैं. हिमांशु ने मीडियाा को बताया कि हर रोज 14 घंटे कड़ी मेहनत करते थे. उम्मीद थी कि टॉप 10 में जगह बनाऊंगा लेकिन टॉप करने की उम्मीद नहीं थी. ये सपने के सच होने जैसा है. हिमांशु से बड़ी एक बहन है जो इंटर में पढ़ती है. उनके पिता का कहना है कि उनको अपने बेटे पर गर्व है.

बनना चाहते हैं इंजीनियर –हिमांशु राज रोहतास में रहकर ही आगे की पढ़ाई करना चाहते हैं. वो इंटर में साइंस स्‍ट्रीम से पढ़ाई करेंगे. वो सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं. इसलिए वो साइंस स्‍ट्रीम से पढ़ाई करेंगे.

बिहार स्कूल परीक्षा बोर्ड के मुताबिक कुल 1494071 बच्चों ने परीक्षा दी थी. इसमें से 12,03,011 बच्चे पास हुए हैं. 4,03,392 छात्र फर्स्ट डिवीजन से पास हुए हैं. वहीं, 5,24,217 छात्र सेकेंड डिवीजन और 2,75,402 छात्र थर्ड डिवीजन से पास हुए हैं.

ऐसे देखें बिहार बोर्ड मैट्रिक का रिजल्ट
सबसे पहले बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं. उसके बाद दसवीं कक्षा के परिणामों से संबंधित लिंक पर क्लिक करें. क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा. यहां आपको अपना नाम और रोल नंबर दर्ज करना होगा. इसके बाद सारी जानकारी सबमिट करते ही आपका रिजल्ट खुल जाएगा.

पिछले साल (2019) 6 अप्रैल को मैट्रिक के परिणाम आए थे. 80.73 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास हुए थे. बिहार बोर्ड मैट्रिक 2018 की परीक्षा में कुल 68.89 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए थे. यानी पिछले साल रिजल्ट काफी बेहतर रहा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *