पाक में भारत के खौफ के चर्चे, अभिनंदन को लेकर बड़ा कबूलनामा

पाकिस्तान की संसद में भारतीय सेना के खौफ के चर्चे हो रहे हैं. जी हां, पाकिस्तान के एक सांसद ने संसद में बोलते हुए दावा किया कि भारत के हमले के डर से इमरान खान सरकार ने भारतीय वायुसेना के पायलट अभिनंदन वर्धमान को अचानक रिहा कर दिया था, जिसे पाकिस्तानी सेना ने हिरासत में लिया था.

वहीं पाकिस्तान असेंबली के पूर्व स्पीकर अयाज सादिक ने कहा, ‘उस समय पाकिस्तान को डर था कि कहीं भारत उस पर हमला न कर दे. भारत के हमले की आशंका से उस समय पाकिस्तान के सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा के पैर कांप रहे थे और चेहरे पर पसीना आ रहा था. बाजवा को भारत के हमले का डर सता रहा था.’

अयाज ने आगे कहा कि हिंदुस्तान हमला नहीं करने वाला था. सरकार को सिर्फ घुटने टेककर अभिनंदन को वापस भेजना था जो उन्होंने किया.

2019 में पाक की कैद में थे अभिनंदन

पिछले साल 27 फरवरी को जब पाकिस्तान ने हमले के लिए अपने फाइटर जेट भारत में भेजे थे. तब उसका जवाब देने के लिए भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने मिग-21 में उड़ान भरी थी, पर उनका विमान क्रैश हो गया था. वो पैराशूट के जरिए विमान से कूद गए थे पर पीओके में जा गिरे. जहां उनको पाकिस्तान की सेना ने पकड़ लिया था. इस दौरान उन्हें जमकर टॉर्चर किया गया. उनकी पिटाई की गई, गला घोंटने की कोशिश की गई और उन्हें सोने से रोका गया पर बहादुर पायलट अभिनंदन इतने टॉचर के बाद भी नहीं टूटे और पाकिस्तानी सेना को कुछ भी जानकारी नहीं दी.

हालांकि पूछताछ के दौरान पाक आर्मी ने उन्हें चाय पीने को दिया था और इसका विडियो शेयर कर दुनियाभर को दिखाने की कोशिश की गई थी कि वो अभिनंदन की कैसी खातिरदारी कर रहे हैं. लेकिन भारत ने पाकिस्तान पर काफी दबाव बनाया जिसके बाद अभिनंदन को अटारी-वाघा बॉर्डर से भारत वापस लौटाया गया था.

भारत की कूटनीति का था जबरदस्त दबाव

ये भारत की कूटनीति का ही दबाव था कि पाकिस्तान की सरकार ने तुरंत फैसला लिया कि विंग कमांडर अभिनंदन को भारत को वापस लौटाया जाए. खुद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने 28 फरवरी को वहां की संसद में इस बात का एलान किया कि विंग कमांडर को भारत वापस भेजा जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *